Online/Offline Marketing & Supporting System +91 8109108219, 8349555700
default-logo

घर बैठे फैशनेबल खरीदारी का मौका

  रायपुर स्मार्ट सिटी। लिली चौक पुरानी बस्ती रायपुर निवासी एक दंपती ने महिलाओं के लिए आकर्षक और उनकी बजट में बेहतर डिज़ाइन के इमीटेशन ज्वेलरी की श्रृंखला जारी की है। खास बात यह है कि श्रीमती संगीता गुप्ता घर पर खाली समय में सोशल मीडिया के जरिये पूरे देश में महिलाओं को घर बैठे...
Read More →

प्रेस क्लब के सम्मान से टिमटिमाते दीये की बढ़ी लौ

इस जहां में दीये की तरह टिमटिमा रहे है, आपके सम्मान ने इसकी लौ को बढ़ा दिया। (इस सम्मान को लेकर यह पंक्ति बनी है)   30 नवंबर को रायपुर प्रेस क्लब ने पत्रकारिता में उल्लेखनीय काम करने के लिए सम्मानित किया। सबसे ज्यादा खुशी यह थी कि यह सम्मान छत्तीसगढ़ पत्रकारिता की पहचान श्री ...
Read More →

दुनिया और पत्नी के ताने में फर्क होता है…

हरिराम आज सुबह-सुबह जल्दी उठ गया था…पत्नी चिंताबाई ने कहा था पीटीएम के लिए जाना है…हरिराम अपने स्कूल के वक्त को याद करता हुआ पत्नी से कह रहा था ये सब चोचले हमारे समय में तो नहीं होते थे…चिंता बाई ने घूरते हुए देखा और कहा- इसीलिए तो...
Read More →

जेब में पारले-जी बिस्कुट लेकर दफ्तर जाना

रिपोर्टर हरिराम ऑफिस से निकला। बेसमेंट में संपादक की कार के पास खड़ा हो गया। इधर-उधर सीसीटीवी कैमरे की नज़र से बचकर यहां तक आया। जेब से कील निकाली और संपादक तोपचंद की कार में खरौंचे मारने लगा। अब आप अंदाजा लगाइए कि कितना ज्यादा भरा पड़ा बैठा था हरिराम।     दिल ...
Read More →

हेडिंग के नीचे तस्वीर में कुत्तों का झुंड!

हरिराम अच्छा रिपोर्टर था। ज़ाहिर है, उसके संबंध सभी से अच्छे ही होंगे। मंत्री चिरौंजीलाल का भी वो नज़दीकी था। ये नज़दीकी तोपचंद और चम्मचलाल दोनों को ही खटकती थी। वो सोचते कि कैसे वे लोग मंत्री के ज्यादा नज़दीक जाएं। चम्मचलाल ने अपनी प्रभुभक्ति मंत्री के संदर्भ में कुछ...
Read More →

जीवन : पृथ्वी पर और अंतरिक्ष में

फ्रांसीसी लेखक जूल्स वर्न का 1873 का उपन्यास `अस्सी दिनों में पूरे विश्व का चक्कर` काफी प्रसिद्ध हुआ था। लेकिन तब यह एक चुनौती थी। आज लगभग डेढ़ सदी बाद कोई भी हवाई जहाज़ पर सवार होकर पूरे विश्व का चक्कर अस्सी घंटों में लगा सकता है। और आज हम आधी दुनिया यानी भारत से कैलिफोर्निया का...
Read More →

एक ही फंडा था- बने रहो पगला, काम करेगा अगला…।

सुबह के साढ़े दस बज चुके थे। पत्रकार हरिराम अपनी उस रजाई के अंदर ठंड से नूराकुश्ती कर रहा था, जिसमें या तो सिर आ सकता था या फिर पैर। पत्नी चिंताबाई कबसे उससे कह रही थी, कि नई रजाई ले लीजिए। हरिराम ने वादा किया था इंक्रीमेंट के बाद ले लेंगे। लेकिन जब इंक्रीमेंट हुआ, तो होश फ़ाख्ता...
Read More →

व्यंग्य : चोखेलाल भी गरीब था, पर चोखा था

दफ़्तर में की-बोर्ड और दिमाग की दही करने के बाद जब हरिराम की खबर का संपादक ने रायता फैला दिया, तो हरिराम अपने मन ही मन उनकी माता-बहनों को याद करता हुआ दफ़्तर से झल्लाता हुआ निकला। दरअसल, दिनभर यहां-वहां, इस दफ़्तर, उस दफ़्तर भटकने के बाद कलेक्टर मांगेलाल के चपरासी चोखेलाल न...
Read More →

आवेदकों की मांग पर बढ़ी तारीख…

रायपुर स्मार्ट सिटी (वीएनएस)। रायपुर विकास प्राधिकरण की ओर से कमल विहार में 3 बीएचके फ्लैट्स एलआईजी 2 के आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि बढ़ा कर 15 नवंबर 2017 कर दी गई है। यह फैसला कमल विहार को लेकर लोगों के बढ़ते रुझान और मांग पर लिया गया है। प्रतीकात्मक चित्र   इसी प्रकार...
Read More →

कमजोरी को ताकत बनाती अपनी खुशी…

ख़ुद से ख़ुद के लिये करो ज़िद …” ये कहना है मुंबई की खुशी का। जो शारीरिक रूप से तो जरूर सामान्य लोगों से कमजोर है, लेकिन इनके हौसले विशाल पर्वत की तरह अडिग और मजबूत है। पर यह शुरू से ऐसी नहीं थी, दिव्यांगता के कारण इनका बचपन कष्ट में गुजरा। पढ़ाई, परीक्षा और कैरियर ...
Read More →