Online/Offline Marketing & Supporting System +91 8109108219, 8349555700
default-logo

छत्तीसगढ़ में सुरक्षित नहीं हैं पत्रकार

press club raipur Journalist not safe in Chhattisgarh (2)

 

- प्रेस क्लब सामने स्थित धरना स्थल पर सुंदरकांड का पाठ भी कराया

- मारपीट के विरोध में लगातार नौवें दिन भी जारी रहा आंदोलन

रायपुर. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय ‘एकात्म परिसर’ में पत्रकारों के साथ हुई मारपीठ की घटना के बाद राजधानी समेत प्रदेशभर के पत्रकार आंदोलित हैं. लगातार नौ दिनों से धरना-प्रदर्शन और रैली निकालीं जा रही हैं, वहीं कई अलग-अलग तरीकों से भी विरोध जताकर आरोपी नेताओं की पार्टी से निष्कासन की मांग की जा रही है.

press club raipur Journalist not safe in Chhattisgarh

 

इसी सिलसिले में रविवार को रायपुर प्रेस क्लब, मोतीबाग धरना स्थल पर सुंदरकांड का पाठ और सद्बुद्धि यज्ञ का आयोजन किया गया. इसमें बड़ी संख्या में पत्रकार शामिल हुए. आंदोलनरत पत्रकारों ने बताया कि महायज्ञ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को सद्बुुद्धि प्रदान करने के लिए आयोजित किया गया. मारपीट की घटना को अंजाम दिए नौ दिन हो गए हैं और अभी तक पार्टी की ओर से आरोपियों के ऊपर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई है. पार्टी के नेता अभी भी मारपीट में शामिल नेताओं को शह और प्राश्रय देने में लगे हुए हैं. इसलिए सद्बुद्धि महायज्ञ कर उनकी सद्बुद्धि के लिए प्रार्थना की गई.

press club raipur Journalist not safe in Chhattisgarh (1)

 

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय एकात्म परिसर में 2 फरवरी को पत्रकार सुमन पांडेय के साथ रिपोर्टिंग के दौरान मरपीट व जान से मारने की कोशिश की गई. जिसके बाद से प्रदेशभर के पत्रकार बेहद आक्रोशित हैं. पत्रकार, ऐसे गुंडा प्रवृत्ति के लोगों को पार्टी से बाहर करने की मांग कर रहे हैं. पत्रकारों के इस आंदोलन को जनता का भी भारी समर्थन मिल रहा है और पूरा आंदोलन जन आंदोलन में तब्दील हो गया है. प्रदेश के विभिन्न जिलों में विरोध प्रदर्शन जारी है, वहीं देश के अलग-अलग हिस्सों तक आंदोलन की आग पहुंच चुकी है. शनिवार को बिलासपुर में मशाल रैली निकाली गई इसके अलावा कांकेर, बीजापुर, कोंडागांव, जगदलपुर, राजनांदगांव, कवर्धा, धमतरी, जांजगीर सभी जगह पत्रकार आंदोलन कर रहे हैं.

जारी रहेगा आंदोलन

पत्रकारों का कहना है कि आम आदमी तक खबरें पहुंचाने के लिए पत्रकार पिट रहे हैं, उनकी हत्याएं हो रही है, लिहाजा आंदोलन तब तक जारी रहेगा, जब तक पार्टी गुंडागर्दी करने वाले नेताओं को प्रश्रय देने बंद कर पार्टी से बाहर का रास्ता नहीं दिखा देती. प्रेस क्लब अध्यक्ष दामू आम्बेडरे, महासचिव प्रशांत दुबे, उपाध्यक्ष प्रफुल्ल ठाकुर, कोषाध्यक्ष शगुफ्ता शरीन, संयुक्त सचिव गौरव शर्मा एवं अंकिता शर्मा ने कहा पत्रकारों का आंदोलन जन आंदोलन बन चुका है, क्योंकि जनता की आवाज उठाने वाले पत्रकार मारे जा रहे हैं. सभी ने एक स्वर में कहा कि आने वाले दिनों में आंदोलन और तेज किया जाएगा.

आज निकालेंगे गंगाजल यात्रा

पत्रकार आंदोलन के दसवें दिन सोमवार को गंगाजल यात्रा निकाली जाएगा. यह यात्रा रायपुर प्रेस क्लब, धरना स्थल से शुरू होकर रजबंधा मैदान स्थित भाजपा कार्यालय तक जाएगी. इस दौरान सभी पत्रकार अपने साथ गंगाजल लेकर जाएंगे और भाजपा कार्यालय के गेट पर गंगाजल छिड़ककर कार्यालय को पवित्र करेंगे. पार्टी कार्यालय के अंदर जिस तरह का शर्मनाक कृत्य किया गया है, उससे बाद कार्यालय के शुद्धिकरण की जरूरत है.

About the Author

Leave a Reply

*

captcha *