Online/Offline Marketing & Supporting System +91 8109108219, 8349555700
default-logo

नई पीढ़ी को राष्ट्र और समाज की पूंजी के बारे में बताना जरूरी : राज्यपाल

cg chhattisgarh governer Balramji-Dass-Tandon

रायपुर, 17 अप्रैल 2018

छत्तीसगढ़ के राज्यपाल श्री बलरामजी दास टंडन ने विश्व विरासत दिवस पर देश-प्रदेश के ऐतिहासिक धरोहरों को सदैव संरक्षण प्रदान करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि विश्व विरासत दिवस, हमारे प्राचीन और पुरातात्विक धरोहरों के संरक्षण के प्रति जनता में जागरूकता लाने के लिए मनाया जाता है।

प्रथम विश्व विरासत दिवस 18 अप्रैल 1982 को ट्यूनीशिया में इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ मोनुमेंट्स एंड साइट्स द्वारा मनाया गया था।

 

श्री टंडन ने धरोहरों के संरक्षण की अपील करते हुए कहा कि पुरातात्विक एवं ऐतिहासिक धरोहर इमारतें, साहित्य आदि पूरे राष्ट्र और समाज की पूंजी होती है। हमें इन्हें संरक्षित करने के हरसंभव प्रयास करने चाहिए।


संयुक्त राष्ट्र की संस्था युनेस्को ने वर्ष 1983 में इस मान्यता प्रदान की थी। इससे पहले प्रत्येक वर्ष 18 अप्रैल को विश्व स्मारक और पुरातत्व स्थल दिवस के रुप में मनाया जाता था।

 

उन्होंने आगे कहा कि हमें नई पीढ़ी विशेषकर बच्चों को इसकी जानकारी देना चाहिए ताकि वे इनका महत्व समझ सकें और इसे संजोकर रख सकें।

About the Author

Leave a Reply

*

captcha *